मोमबत्ती बनाने का बिजनेस :कम लागत में अधिक कमाई

मोमबत्ती बनाने का बिजनेस छोटे और सफल बिजनेस में से एक हैं .इस बिजनेस को कम निवेश से शुरू कर बड़ी कमाई की जा सकती हैं .यह एक ऐसा बिजनेस हैं जिसे आप शहर से लेकर ग्रामीण स्तर तक आसानी से कर सकते हैं .

अगर आपके पास कम पूंजी हैं और आप किसी व्यापार के बारे सोच रहे हैं, तो ये पोस्ट आपके लिए हैं . इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको मोमबत्ती बनाने के बिजनेस के बारे में बताने जा रहे हैं .मोमबत्ती बनाने का बिजनेस ऐसा बिजनेस हैं, जिसमे आप कम निवेश और अच्छे Skill के साथ बड़ी कमाई कर सकते हैं .इस बिजनेस को आप ग्रामीण स्तर या शहरी इलाके कही भी कर सकते हैं .

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज के समय मोमबत्ती की डिमांड काफी बढ़ गयी हैं .एक समय था जब मोमबत्ती का उपयोग केवल रौशनी के लिए ही किया जाता था .लेकिन आज हर क्षेत्र में मोमबत्ती की उपयोगिता काफी बढ़ गयी हैं .दीवाली हो या क्रिसमस ,Birthday हो या Anniversary सबको मोमबत्ती ने रोशन किया हैं .मोमबत्ती ने ही होटल- रेस्तरां,कैंटीन और कंफेक्शनरी को महकाया और सजाया हैं .

मोमबत्ती बनाने का बिजनेस

इन सब बातो का ध्यान दिया जाये तो मोमबत्ती बनाने का बिजनेस एक अच्छा बिजनेस हो सकता हैं . आइये मोमबत्ती बनाने के विभिन्न चरणों के बारे में जानते हैं .

मार्किट रिसर्च

मार्किट रिसर्च निम्नलिखित बातो पर निर्भर करती हैं ..

  • मोमबत्ती या अन्य कोई भी बिजनेस शुरु करने से पहले सबसे प्रमुख काम हैं मार्किट रिसर्च
  • जिस मोमबत्ती का हम उत्पादन करने जा रहे हैं उसकी मार्किट में डिमांड कैसी हैं .
  • क्या और कोई इस व्यापार को पहले से कर रहा हैं,हम किस उद्देश्य से ये माल तैयार कर रहे हैं ?
  • हमारे खरीददार कौन हैं ,हम इस तरह का उत्पाद बनाये जो मार्किट में पहले से नहीं हैं ?
  • इन सब बातो को पता लगाना बहुत जरुरी हैं, ताकि हम अपने व्यापार को प्रतिस्पर्धा के इस दौर में स्थापित कर सके .

बिजनेस प्लानिंग

मार्किट रिसर्च के बाद आप अपने मोमबत्ती बनाने के बिजनेस की प्लानिंग कर सकते हैं. इसमें आप अपने निवेश ,उत्पादन ,कस्टमर मार्केटिंग आदि पहलुओ को शामिल कर सकते हैं .एक अच्छी प्लानिंग ही एक मिशन को कामयाब बनती हैं .ये बात इस मोमबत्ती बनाने के बिजनेस में भी लागू होती हैं.

कैंडल मेकिंग के बिजनेस के लिए आवश्यक रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस

मोमबत्ती बनाने के बिजनेस के लिए आपको स्थानीय प्रशासन से रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस लेना अनिवार्य हैं .रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस लेकर अप अपने बिजनेस को वैध और सुचारू रूप से कर सकते हैं . इसके साथ ही आपको राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा NOC भी प्राप्‍त करनी होगी. और MSME रजिस्ट्रेशन करवाना होगा.

मोमबत्ती बनाने का बिजनेसशुरु करने के लिए आवश्यक उपकरण और कच्चा माल

इस व्यवसाय को शुरु करने के लिए आपके पास कुछ जरुरी उपकरण होने आवश्यक हैं . इसमें मोमबत्ती बनाने का साचा या मशीन ,कुशल कारीगर तथा विभिन्न तरह के पैकिंग से सम्बन्धी उपकरण हैं .इसके अलावा कच्चे माल के रूप में आपके पास ये महत्वपूर्णचीजे होनी जरुरी हैं ..

  • मोम
  • सूत
  • विभिन्न रंग
  • सुगन्धित तेल
  • अपनी ब्रांड का लेवल
  • पैकिंग सामग्री
  • कुछ टिन या जार

मोमबत्ती बनाने की मशीन का चयन

आज बाजार में तरह तरह की मोमबत्ती बनाने की मशीने उपलब्ध हैं .आम तौर पर ये मशीने तीन प्रकार की होती हैं .

  • मैनुअल
  • सेमी ऑटोमेटिक
  • फुल ऑटोमेटिक

मैनुअल मशीन पूरी तरह से मानव चलित होती हैं .इसकी कीमत कम होती हैं .कीमत कम होने के साथ साथ इसकी उत्पादन क्षमता भी कम होती हैं .ऑटोमेटिक मशीनों की अपेक्षा इसमें प्रोडक्ट फिनिशिंग का भी आभाव रहता हैं .

सेमी ऑटोमेटिक मशीन आंशिक रूप से मानव चलित व आंशिक रूप से पॉवर चलित होती हैं .इसकी कीमत मैनुअल से अधिक किन्तु फुल ऑटोमेटिक से कम होती हैं .मैनुअल की अपेक्षा ये प्रोडेक्शन और फिनिशिंग अच्छा देती हैं .

फुल ऑटोमेटिक मशीन पूरी तरह से पॉवर चालित होती हैं .इसकी कीमत सबसे अधिक होती हैं .किन्तु यह उत्पादन और फिनिशिंग में भी सबसे अच्छी होती हैं .

मोमबत्ती बनाने की मशीन का चयन करते समय निम्नलिखित बातो का ध्यान रखना चाहिए ….

  • आज बाजार हर तरफ प्रतिस्पर्धा से भरा पड़ा हैं .
  • अतः हमें इस प्रकार की मशीन का चयन करना चाहिए जो बाजार और मांग के अनुकूल हो .
  • प्रोडक्ट की क्वालिटी और पैकिंग भी प्रोडक्ट की डिमांड को प्रभावित करती हैं .
  • इसलिए मशीन खरीदते समय इसकी क्वालिटी और पैकिंग का भी ध्यान रखे .
  • मशीन खरीदते समय इसकी कीमत ,उत्पादन क्षमता ,मार्किट डिमांड का भी ध्यान रखे .
  • मशीन की खरीददारी करते समय सबसे ज्यादा ध्यान इस बात पर देना चाहिए किये मशीन इक्को फ्रेंडली हो .
  • अर्थात इससे पर्यावरण को कम से कम नुकसान हो .

मोमबत्ती बनाने का तरीका /विधि

  • सबसे पहले मोमबत्ती में प्रयोग होने वाले धागे को इसमें साचे डाल दे.
  • आवश्यकता के अनुसार मोम पिघलाए .
  • अब पिघला हुआ मोम सावधानीपूर्वक सांचे में डाले .
  • अगर आप रंगीन और सुगन्धित मोमबत्ती बनाना चाहते हैं तो इसमें इच्छानुसार रंग और सुगन्धित तेल मिला दे .
  • इसके बाद सांचे के अतिरिक्त मोम को हटा दे .
  • इसके बाद मोम को सुखाने दे
  • सुखने के बाद मोमबती को सावधानी से सांचे से बहार निकल ले .

कैंडल पैकिंग

किसी भी प्रोडक्ट की पैकिंग उसकी सेलिंग का महत्त्वपूर्ण भाग होता हैं . उसी तरह मोमबत्ती की पैकिंग भी इसकी बिक्री को काफी हद तक प्रभावित करती हैं . रंगीन और सुगन्धित मोमबत्ती की सुन्दर और आकर्षित पैकिंग होनी चाहिए .सुन्दर और आकर्षित पैकिंग कस्टमर को प्रोडक्ट खरीदने को प्रोत्साहित करती हैं .

प्रचार और बिक्री /मार्केटिंग

  • अब आपकी मोमबत्ती बन कर तैयार हैं .
  • इसके बाद आपका अगला और अंतिम काम हैं ,तैयार मोमबत्ती का प्रचार और बिक्री करना .
  • अपनी मोमबत्ती की बिक्री आप अपने लोकल एरिया में कर सकते हैं .
  • इसके अलावा आप अपने प्रोडक्ट को ऑनलाइन भी बेच सकते हैं .
  • आज के समय में बिक्री और प्रचार का ये सबसे अच्छा साधन हैं .
  • अगर आपका प्रोडक्ट क्वालिटी और पैकिंग की कसौटी पर खरा उतरता हैं.
  • तो आप कुछ ही समय में एक अच्छे व्यापारी बन सकते हैं .

साथियों आपनी इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको मोमबत्ती बनाने के बिजनेस के बारे में बताया हैं . आशा करते हैं कि आपको ये जानकारी पसंद आएगी और आप इसका लाभ लेंगे. अगर आप किसी अन्य विषय पर हमसे कोई पोस्ट चाहते हैं तो हमें कॉमेंट बॉक्स में जरुर बताये .

इन्हें भी देखे …….

Online Paise Kaise Kamaye :घर बैठे ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए ?

प्लास्टिक बोतल से पैसे कैसे कमाए ? How to earn money from plastic bottles

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Scroll to Top